मध्य प्रदेश के मंदसौर में पीएम मोदी बोले पांच दशक का पाप धोने के लिए थोड़ा तो समय चाहिए, हमें तो अभी सिर्फ 4 साल हुए

yashwant
By yashwant November 24, 2018 12:56

मध्य प्रदेश के मंदसौर में पीएम मोदी बोले पांच दशक का पाप धोने के लिए थोड़ा तो समय चाहिए, हमें तो अभी सिर्फ 4 साल हुए

नई दिल्ली : मध्य प्रदेश के मंदसौर में एक सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भाजपा किसानों के लिए काम करने वाली पार्टी है. गांव, गरीब और किसान मजबूत हो और सरकार के सामने सिर झुका कर खड़ा न रहना पड़े, इसके लिए हम कदम उठा रहे हैं. 5-6 दशक के पाप को ठीक करने के लिए थोड़ा समय भी तो चाहिए. मुझे तो अभी सिर्फ 4 साल मिले हैं. उनसे आधा समय भी मिल जाए तो स्थिति बदल जाएगी. पीएम ने कहा कि मध्य प्रदेश के किसान अपना लोहा मनवा रहे हैं. आज देश में एमपी कृषि के क्षेत्र में अव्वल है. कांग्रेस के जमाने में जो बीमारू राज्य था, अाज वह विकास कर रहा है. एमपी गेहूं के उत्पादन में आगे निकल चुका है और देश में दूसरे नंबर पर है. यह किसानों के बूते ही हुआ है. जो आप को गुमराह करते हैं उनसे सवाल पूछिये कि 55 साल वो कहां खो गए थे? पहले उन्हें किसान क्यों याद नहीं आए. कृषि उत्पादन को ढाई गुना करने में शिवराज की सरकार सफल हुई है.
पीएम मोदी ने कहा कि दशकों तक किसानों की अनदेखी हुई. इसका नतीजा भी गलत रहा. किसान यूरिया के लाठी झेलते थे, ब्लैक में खरीदते थे. जब मैं सीएम था तब मैं भी भारत सरकार को चिट्ठी लिखता था. मेरे पीएम बनने के बाद इस देश के किसी भी सीएम को चिट्ठी लिखने की नौबत नहीं आई. आज किसानों को तमाम समस्याओं से मुक्ति मिल गई है. पहले यूरिया की चोरी होती थी, मोदी ने सारे दरवाजे बंद कर दिये. यूरिया का नीम कोटिंग किया, अब इसका एक दाना भी केमिकल फैक्ट्री के काम नहीं आता है. चोरी रुक गई. पीएम मोदी ने कहा कि पहले हिस्सेदारी थी, इसलिये यह काम नहीं कर पाए. हम किसानों की सेवा करना चाहते थे और करके दिखाया. शिवराज सरकार ने सिंचाई की व्यवस्था 5 गुना बढ़ाई. कांग्रेस ने 55 साल में जो किया, शिवराज ने वही काम 15 साल में कर दिखाया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब दिल्ली में मैडम की सरकार थी और रिमोट कंट्रोल से सरकार चलती थी तब किसान को 15-16 प्रतिशत ब्याज देना पड़ता था. भाजपा ने किसानों के कर्ज को 0 फीसद किया. कांग्रेस किस मुंह से किसानों की बात कर रही है. किसानों को कमजोर बनाने का काम उन्होंने किया और मजबूत बनाने का काम हमने किया. गेहूं, मक्का, ज्वार, उड़द जैसी 21 फसलों का समर्थन मूल्य लागत का डेढ़ गुना करने का फैसला हमने किया है. हम किसानों को सुविधा दे रहे हैं. शिवराज जी ने तो प्याज में 400 और लहसुन में 800 का भुगतान किया है. हमारे किसानों का शोषण न हो, इसके लिए हर कदम उठा रहे हैं. वह दिन दूर नहीं है जब भारत का किसान दुनिया के बाजार में अपनी फसल बेचेंगे.

yashwant
By yashwant November 24, 2018 12:56
Write a comment

No Comments

No Comments Yet!

Let me tell You a sad story ! There are no comments yet, but You can be first one to comment this article.

Write a comment
View comments

Write a comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*