यूपी में दिख सकता है कर्नाटक चुनाव का असर, टूट सकती है अखिलेश-मायावती की दोस्ती

TNM Editor
By TNM Editor May 14, 2018 08:40

यूपी में दिख सकता है कर्नाटक चुनाव का असर, टूट सकती है अखिलेश-मायावती की दोस्ती

सौरभ पंडित, मप्र : कर्नाटक विधानसभा चुनाव के परिणाम का असर उत्तर प्रदेश में भी दिख सकता है. यूपी में समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन कर सकती है. ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि कर्नाटक चुनाव परिणाम का असर इस संभावित गठबंधन पर भी पड़ सकता है. एक्जिट पोल में संभावना जताई जा रही है कि एचडी देवगौड़ा की पार्टी JDS (जनता दल सेक्युलर) किंगमेकर साबित होगी, जबकि चुनाव में इस पार्टी का बीएसपी के साथ गठबंधन है. वहीं समाजवादी पार्टी ने कांग्रेस का समर्थन किया था. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव कांग्रेस के लिए रैलियां भी की थीं.

संभावना जताई जा रही है कि अगर कर्नाटक चुनाव परिणाम आने के बाद JDS+बीएसपी गठबंधन BJP को सरकार बनाने में मदद कर देती है तो इसका सीधा असर यूपी में दिख सकता है. माना जा रहा है कि ऐसी हालत में अखिलेश यादव और मायावती के बीच होने वाले गठबंधन में दरार आ सकती है.

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में सपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि मायावती BJP+JDS गठबंधन का हिस्सा किसी भी सूरत में नहीं बनेंगी. उन्होंने कहा कि बीएसपी उत्तर प्रदेश में मजबूत है, जबकि कर्नाटक में सहयोगी दल है. ऐसी हालत में वह कर्नाटक के लिए अपने गढ़ यूपी में इतनी बड़ी गलती नहीं करेंगी.

सपा नेता ने कहा कि JDS कह रही है कि वह BJP या कांग्रेस में से किसी भी राष्ट्रीय सरकार के साथ मिलकर सरकार नहीं बनाएगी. हालांकि मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने दलित चेहरे के नाम पर सीएम पद छोड़ने की बात कहकर JDS को इशारों में साथ आने का न्योता दे दिया है.

राजनीति के जानकार भी मानते हैं कि मौजूदा वक्त में मायावती का BJP+JDS गठबंधन की सरकार बनाने में सहयोग करना मुश्किल लगता है. हालांकि इस संभावना से इनकार भी नहीं किया जा रहा है. जानकारों को कहना है कि मायावती के खिलाफ चीन मिल मामले में सीबीआई जांच चल रही है. इससे पहले मायावती साल 2002 में अपने मंत्रिमंडल में 7 BJP विधायकों को जगह देकर सरकार चला चुकी हैं.

सपा के विधान परिषद सदस्य उदयवीर सिंह का मानना है कि कर्नाटक में बीएसपी को फैसला लेना है. उन्होंने कहा कि गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव के दौरान बना सपा-बसपा गठबंधन 2019 तक जारी रहेगा.

क्या कहते हैं कर्नाटक चुनाव के एक्जिट पोल
मालूम हो कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव के परिणाम 15 मई का आएंगे. इससे पहले आए एक्जिट पोल में त्रिशंकु विधानसभा रहने की संभावना जताई गई है.

टाइम्स नाऊ और वीएमआर के एक्जिट पोल में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी है लेकिन बहुमत के आंकड़े से दूर है.

कांग्रेस को 90-103 सीट
BJP को 80-93 सीट
JDS को 31-39 सीट

इंडिया टुडे और एक्सिस माय इंडिया का एग्जिट पोल क्या कहता है…

कांग्रेस को 106-118 सीट
BJP को 79-92 सीट
JDS को 22-30 सीट

रिपब्लिक-जन की बात का एग्जिट पोल…

कांग्रेस को 73-82 सीट
BJP को 95-114 सीट
JDS को 32-43 सीट

एबीपी-सी वोटर का एग्जिट पोल…

कांग्रेस को 88 सीट
BJP को 110 सीट
JDS को 24 सीट

न्यूज एक्स-सीएनएक्स का एग्जिट पोल…

कांग्रेस को 70-78 सीट
BJP को 102-110 सीट
JDS को 35-39 सीट

टुडेज चाणक्य का एग्जिट पोल…

BJP को 109-131 सीट
कांग्रेस को 63-84 सीट
JDS को 19-34 सीट

TNM Editor
By TNM Editor May 14, 2018 08:40
Write a comment

No Comments

No Comments Yet!

Let me tell You a sad story ! There are no comments yet, but You can be first one to comment this article.

Write a comment
View comments

Write a comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*